Latest News

बाहुबली जैसी हिट फिल्मों के प्रमुख फिल्म निर्माता शोबू यारलागड्डा ने सुनो इंडिया में एक एंजेल निवेशक के तौर पर निवेश किया

भारत का पहला पॉडकास्ट मीडिया स्टार्टअप Suno India यह घोषणा करते हुए रोमांचित है कि अर्का मीडिया वर्क्स के सह-संस्थापक और सीईओ शोबू यारलागड्डा एक एंजेल निवेशक के रूप में कंपनी के साथ जुड़े है। 

“देश में जिस समय  अधिकांश मुख्यधारा का मीडिया टीआरपी की खातिर ख़बरों को सनसनीखेज बना के प्रस्तुत कर रहा है वो कई खबरें जो सच में हमारे ध्यान देने योग्य हैं, उनकी उपेक्षा की जा रही हे। ऐसे समय में सनो इंडिया, अपने पॉडकास्ट के माध्यम से वर्तमान में उन सामाजिक मुद्दों पर प्रकाश डाल रहा है, जिन पर वास्तव में चर्चा और बहस की जरूरत है! मैं इस युवा टीम के साथ छोटे तरीके से ही सही पर जुड़कर खुश हूं और उनकी सफलता की कामना करता हूं ” ~शोबू यारलागड्डा

यह निवेश दो साल पुराने स्टार्टअप द्वारा प्राप्त अन्य उपलब्धियों में सबसे नवीनतम है।2019 में भी, Suno India को अपने काम का विस्तार करने के लिए इंडिपेंडेंट एंड पब्लिक स्पिरिटेड मीडिया फाउंडेशन (IPSMF) से फंडिंग मिली थी।

 सुनो इंडिया वर्तमान में १३ से ज्यादा पॉडकास्ट शो बनाता हे जिनमे वर्तमान समाचार, जलवायु, स्वास्थ्य और करियर सम्बंधित जानकारी से लेके बच्चों के लिए ज्ञान वर्धक कहानियां सम्मिलित हे और ये सब शोज अंग्रेजी, हिंदी, तेलुगु और तमिल में उपलब्ध हैं जिन्हे हर महीने १ लाख से ज्यादा लोग सुनते हैं।  

“मैं और मेरी टीम इस उपलब्धि से बहुत खुश हैं। सुनो इंडिया हमने इसलिए शुरू किया था ताकि हम उन मुद्दों पे बात कर सके जो हमारे भारत के नागरिकों के लिए बहुत जरुरी हैं और जिनकी अकसर उपेक्षा की जाती हे। शोबू जी का सहयोग और विश्वास हमे इन्ही मुद्दों पे बात करने और राष्ट्रीय के साथ साथ विश्व स्तर पर भी नाम बनाने का एक मौका देगा” पद्मा प्रिय कहती हे, जो कि सनो इंडिया की सह-संस्थापक और संपादक हैं।

इस निवेश से सुनो इंडिया भारत में पॉडकास्ट उद्योग में एक अग्रणी की भूमिका निभाते हुए भारत की अलग अलग स्थानीय भाषयों में कंटेंट बना के अपने काम का विस्तार कर सकेगी। वे भारत के छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले समुदायों के लिए प्रासंगिक और सूचनात्मक सामग्री के साथ ५०० मिलियन श्रोताओं तक पहुंचने के लिए प्रतिबद्ध ह। 

शोबू यारलागड्डा अर्का मीडियावर्क्स के सीईओ और सह-संस्थापक हैं जो भारत में स्थित एक प्रमुख फिल्म और टेलीविजन प्रोडक्शन हाउस हे। 

2001 में स्थापित, अर्का मीडियावर्क्स ने कई सफल और समीक्षकों द्वारा प्रशंसित टेलीविजन शो और फिल्मों का निर्माण किया है; जिनमे मुख्य “वेदम”, “मर्यादा रमन्ना”, और हाल ही में, एस एस राजामौली के दो भागों वाला भारतीय महाकाव्य, “बाहुबली” शामिल हे। बाहुबली भारत में बनी अब तक की  सबसे महंगी फिल्म हे, और इसके दोनों भागों के लिए यूएस $ 65 मिलियन से अधिक का संयुक्त बजट था। दोनों बाहुबली फिल्मों ने दुनिया भर में $ 385 मिलियन की कमाई की और राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार सहित कई अन्य पुरस्कार और प्रशंसा प्राप्त की।

शोबू का बाहुबली को बनाने में महत्वपूर्ण योगदान रहा, जो की एक क्षेत्रीय फिल्म होने के बावजूद पुरे भारत में ही नहीं वैश्विक बाजार जिनमे मुख्यते जापान, मध्य पूर्व और दक्षिण पूर्व एशिया सम्मिलित हैं में बहुत सफल रही। उन्होंने फिल्मों से परे बाहुबली को दुनिया में आगे बढ़ाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिससे यह भारत की सबसे बड़ी और सबसे सफल tent-pole फ्रैंचाइज़ी बन गई, जिनमे अमेज़ॅन प्राइम पर एक एनिमेटेड श्रृंखला, एक उपन्यास त्रयी, ग्राफिक उपन्यास, वर्चुअल रियलिटी, मोबाइल गेम्स, मर्चेंडाइजिंग और आगामी नेटफ्लिक्स की श्रृंखला सहित कई अन्य सम्मिलित हैं।  

शोबू नेशनल कमेटी ऑफ मीडिया एंड एंटरटेनमेंट, भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के सदस्य के रूप में कार्य करते हैं, और टेलीविजन कला और विज्ञान अकादमी, NY (Emmy’s) ​​के अंतर्राष्ट्रीय अकादमी के सदस्य भी हैं।

Suno India एक बहुभाषी और हर पीढ़ी के द्वारा सुना जाने वाला पॉडकास्ट प्लेटफ़ॉर्म है जो पूरी तरह से उन मुद्दों पर ऑडियो-कहानियों के लिए समर्पित है, जो हमारे समाज के लिए अत्यंत आवश्यक हैं। सुनो इंडिया ऑडियो के माध्यम से उन विषयों पे प्रकाश डालता हे जिनका सामजिक प्रतिनिधवत बहुत कम हे और उनके बारे में लिखा और दिखाया भी बहुत कम जाता हे। 

पद्मा प्रिया, राकेश कमल और तरुण निर्वाण द्वारा सितंबर 2018 में शुरू की गई, सनो इंडिया, भारतीय पॉडकास्ट उद्योग में एक प्रसिद्ध नाम बन गया है।  कंपनी के संस्थापकों के आलावा आयशा मिन्हाज, कुनिका बलहोत्रा ​​और वैशाली पांडियन सहित छह लोगों की एक छोटी सी टीम के साथ, सुनो इंडिया  वर्तमान में कई भाषाओं में 13 पॉडकास्ट शो प्रसारित करता हैं।

सुनो इंडिया के बोर्ड ऑफ एडवाइजर्स में डिजिटल आइडेंटिटीज़ के संस्थापक अभय अधिकारी (पीएचडी) और विशेषज्ञ वित्तीय रणनीतिकार Giulia Rancati शामिल हैं, जो कंपनी के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे हैं।